Hungama 2 Story, Cast In Hindi

————————————————————

Director – Priyadarshan
Actors – Meezaan Jaffrey, Ashutosha Rana, Shilpa Shettey, Pranitha Subhash, Paresh Rawal, Rajpal Yadav, Tiku Talsania, Raman Trikka.

Story of Hungama 2 –

कर्नल गोविंद कपूर (आशुतोष राणा) के परिवार में उनके बेटे आकाश कपूर (मिजान जाफरी) और अमन कपूर (रमण त्रिक्का) शामिल हैं। अमन कपूर बिजनस के सिलसिले में विदेश चला जाता है और अपने चार बच्चों को उनके दादा के पास ही छोड़ जाता है. वो सभी बच्चे काफी शरारती है। कर्नल गोविन्द कपूर अपने छोटे बेटे आकाश कपूर की शादी अपने दोस्त बजाज की बेटी से तय कर देते है।
कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब आकाश की कॉलेज गर्लफ्रेंड वाणी (परिणीता सुभाष) गहना नाम के एक बच्ची के साथ उनके घर आती है और दावा करती है कि बच्चे का पिता आकाश है। आकाश बताता है कि यह उसका बच्चा नहीं है। हालाँकि आकाश यह मानता है कि वाणी उसकी एक्स गर्लफ्रेंड थी, जब वो दोनों कॉलेज में पढ़ते थे, लेकिन वो एक दिन अचानक वाणी आकाश को छोड़ कर ऐसे चली गई कि काफी खोजने के बाद भी उसके बारे में जानकारी नहीं मिली।
घर पर आये इस आफत से कपूर परिवार काफी परेशान हो जाता है. बाहर के लोगों को वाणी और उसके बच्ची का समबन्ध आकाश के साथ होने के बारे में पता ना चले इसलिए गोविन्द कपूर अपने दोस्त बजाज को बताते हैं कि वाणी घर के बच्चों की नई ट्यूटर है।
उधर आकाश अपने सहकर्मी अंजलि तिवारी (शिल्पा शेट्टी) की मदद लेता है ताकि वह बच्चे के बारे में बातें छिपाने में मदद कर सके ताकि किसी को भी इसके बारे में पता न चले। लेकिन अंजलि के पति श्री राधे श्याम तिवारी (परेश रावल) एक संदिग्ध दिमाग वाले व्यक्ति हैं। वह सोचता है कि अंजली का किसी और आदमी के साथ अफेयर चल रहा है और उसे कैमरे में आकाश के लाल मोज़े मिलते हैं जो उसने चुपके से अपने घर में रखे थे। तिवारी उसी लाल मोज़े वाले किसी व्यक्ति को ढूँढ़ने की कोशिश करने लगता है और उसे आकाश मिल जाता है। अब वह सोचता है कि आकाश उसकी पत्नी का प्रेमी है और गहना उनकी संतान है। इस प्रकार, भ्रम शुरू होता है।

फ्लैशबैक में दिखाया गया है कि वाणी और आकाश एक-दूसरे से प्यार करते थे और वाणी बिना किसी सूचना के अचानक बाद में चले गई।
इधर वाणी के दावों की सच्चाई के लिए बच्ची का एक डीएनए परीक्षण करते हैं और परिणाम बताते हैं कि बच्ची वास्तव में कपूर खानदान की ही बच्ची है। लेकिन फिर भी कर्नल कपूर इस बात को स्वीकार करने में हिचकिचाते हैं।
उधर आकाश वाणी को घर से भगाने के लिए अपने भतीजे-भतीजियों को उकसाता है। बच्चे लोग वाणी को भगाने के लिए प्रयास भी करते हैं, लेकिन वाणी अपने व्यवहार से बच्चों का दिल जीत लेती है और उन बच्चों को अनुशासित कर देती है, जिससे कर्नल गोविन्द कपूर वाणी से काफी प्रभावित होते हैं। लेकिन आकाश वाणी को झूठा साबित करने के लिए कई प्रपंच रचता है, मगर हर बार वो नाकाम साबित होता है।
आकाश व बजाज की बेटी की शादी का दिन नजदीक आ जाता है। शादी में शामिल होने के लिए अमन कपूर भी विदेश से वापस आ जाता है।
जिस दिन आकाश और बजाज की बेटी की शादी होनी थी, उसी वक़्त सबके बीच राधे श्याम तिवारी इस बात का दावा करता है कि गहना दरअसल आकाश और अंजली की संतान है। लेकिन कर्नल कपूर बताते हैं कि दरअसल इस बच्ची का पिता आकाश है। इस बात से बजाज काफी नाराज होता है और कर्नल कपूर को भला बुरा कहते हुए अपनी बेटी का रिश्ता आकाश से करने से इनकार कर देता है।
उसी रात वाणी और अमन के बीच एक गुप्त मुलाक़ात होती है, तब ये भेद खुलता है कि दरअसल ये बच्ची अमन कपूर और वाणी की बहन की बच्ची है। शादी शुदा अमन कपूर और वाणी की बहन के बीच एक अफेयर था, जिसके वजह से वाणी की बहन गर्भवती हो गई थी। जब वो अमन कपूर को इसके बारे में बताती है तब अमन कपूर वहां से भाग जाता है। सब कुछ जानते हुए भी वाणी की बहन ने इस बच्ची को जन्म दिया, लेकिन इस बच्ची को जन्म देने के तुरंत बाद उसकी मृत्यु हो जाती है। वाणी अपनी बहन की बेटी को उसका हक़ दिलाने के लिए उस बच्ची को लेकर कर्नल कपूर के घर आई है । अमन और वाणी के बीच इस वार्तालाप को घर के सभी अन्य सदस्य सुन लेते हैं।
सच्चाई जानने के बाद कर्नल कपूर उस बच्ची को अपने घर में अपना लेते हैं और वाणी व आकाश का विवाह तय कर देते हैं।

————————————————————